सिंधु घाटी के लोग किस से परिचित नहीं थे?

0 votes
28 views
asked in General Knowledge by

Your answer

Your name to display (optional):
Privacy: Your email address will only be used for sending these notifications.

Related questions

प्राकृतिक नहीं है टोक्यो , 24 अप्रैल ( इंट ) : चिकित्सा पूरी तरह से आर्टिफिशियल है । चीन की | के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार जीतने वाले जापान मुहं लैबोरेटरी में मैंने 4 साल काम किया के वैज्ञानिक प्रोफैसर डॉ . तासुकु होंजो ने है । उस लैबोरेटरी के सारे स्टाफ से मैं पूरी दावा किया है कि कोरोना वायरस प्राकृतिक तरह परिचित हूं । कोरोना हादसे के बाद से नहीं है । मैं सब को फोन लगा रहा उन्होंने कहा कि हूं परंतु सभी मैंबर्स के फोन | यदि प्राकृतिकहोता तो 3 महीने से बंद आ रहे हैं । | पूरी दुनिया में यह यूं अब पता चल रहा है कि तबाही नहीं मचाता सारे लैब टैक्नीशियन की क्योंकि विश्व के हर मौत हो चुकी है । चीन झूठ देश में अलग

0 answers asked May 8 in General Knowledge by anonymous
यदि देश में सभी धर्मों के बीच एकता रहे, तो उस देश की आधी समस्या अपने आप ही समाप्त हो जाएगी। भारत इसका सबसे बड़ा उदाहरण है। भारत में विभिन्न धर्म विद्यमान हैं। इन सबकी संस्कृति, रहन-सहन व पूजा करने का ढ़ंग अलग-अलग है। ये सब हमारे देश के कीमती मोती हैं। इन मोतियों को एकता का धागा बाँधे हुए है। धर्म मनुष्य को अच्छाई अपनाने और बुराई को मिटाने का मार्ग बताता है। यदि मनुष्य के जीवन में धर्म न हो, तो वह कभी अच्छा इंसान नहीं बन सकता। धर्म मनुष्य को उसके आचरण, उसके कर्तव्यों, आपसी प्रेम व साझेदारी बनाए रखने की प्रेरणा देता है। किसी धर्म ने कभी यह नहीं कहा कि दूसरा धर्म अच्छा नहीं है। धर्म ही है, जो मनुष्य को आपस में जोड़े हुए है। मनुष्य में बुराई के प्रति डर पैदा करना व उसे अच्छा इंसान बनाना धर्म का ही कार्य है। सारे धर्मों का निचोड़ है- दूसरों की सेवा करना, सबकी सहायता करना, सत्य व सदाचार से जीवनय

0 answers asked May 14, 2019 by anonymous

1 answer asked May 11, 2019 in political-science by anonymous
Made with in Patna
...