sawalzawab.com| सिंधु घाटी क लोग किस पशु से परिचित नही थे

// // //
0 votes
asked in General Knowledge by

1 Answer

answered by
निर्भर करता है कि option में क्या है। जिर्राफ और ज़ेब्रा दोनों से वो लोग परीचित नहीं थे

Related questions

sawalzawab.com| प्राकृतिक नहीं है टोक्यो , 24 अप्रैल ( इंट ) : चिकित्सा पूरी तरह से आर्टिफिशियल है । चीन की | के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार जीतने वाले जापान मुहं लैबोरेटरी में मैंने 4 साल काम किया के वैज्ञानिक प्रोफैसर डॉ . तासुकु होंजो ने है । उस लैबोरेटरी के सारे स्टाफ से मैं पूरी दावा किया है कि कोरोना वायरस प्राकृतिक तरह परिचित हूं । कोरोना हादसे के बाद से नहीं है । मैं सब को फोन लगा रहा उन्होंने कहा कि हूं परंतु सभी मैंबर्स के फोन | यदि प्राकृतिकहोता तो 3 महीने से बंद आ रहे हैं । | पूरी दुनिया में यह यूं अब पता चल रहा है कि तबाही नहीं मचाता सारे लैब टैक्नीशियन की क्योंकि विश्व के हर मौत हो चुकी है । चीन झूठ देश में अलग

0 answers asked in General Knowledge by anonymous
sawalzawab.com| यदि देश में सभी धर्मों के बीच एकता रहे, तो उस देश की आधी समस्या अपने आप ही समाप्त हो जाएगी। भारत इसका सबसे बड़ा उदाहरण है। भारत में विभिन्न धर्म विद्यमान हैं। इन सबकी संस्कृति, रहन-सहन व पूजा करने का ढ़ंग अलग-अलग है। ये सब हमारे देश के कीमती मोती हैं। इन मोतियों को एकता का धागा बाँधे हुए है। धर्म मनुष्य को अच्छाई अपनाने और बुराई को मिटाने का मार्ग बताता है। यदि मनुष्य के जीवन में धर्म न हो, तो वह कभी अच्छा इंसान नहीं बन सकता। धर्म मनुष्य को उसके आचरण, उसके कर्तव्यों, आपसी प्रेम व साझेदारी बनाए रखने की प्रेरणा देता है। किसी धर्म ने कभी यह नहीं कहा कि दूसरा धर्म अच्छा नहीं है। धर्म ही है, जो मनुष्य को आपस में जोड़े हुए है। मनुष्य में बुराई के प्रति डर पैदा करना व उसे अच्छा इंसान बनाना धर्म का ही कार्य है। सारे धर्मों का निचोड़ है- दूसरों की सेवा करना, सबकी सहायता करना, सत्य व

0 answers asked by anonymous
sawalzawab.com| 4. निम्नलिखित में कौन सांस्कृतिक और शैक्षिक अधिकारों की सही व्याख्या है?(क) शैक्षिक-संस्था खोलने वाले अल्पसंख्यक वर्ग के ही बच्चे उस संस्थान में पढ़ाई कर सकते हैं।(ख) सरकारी विद्यालयों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि अल्पसंख्यक-वर्ग के बच्चों को उनकी संस्कृति और धर्म -विश्वासों से परिचित कराया जाए।(ग) भाषाई और धार्मिक-अल्पसंख्यक अपने बच्चों के लिए विद्यालय खोल सकते हैंऔर उनके लिए इन विद्यालयों को आरक्षित कर सकते हैं।(घ) भाषाई औरधार्मिक-अल्पसंख्यक यह माँग कर सकते हैं उनके बच्चेउनके द्वारा संचालित शैक्षणिक-संस्थाओं के अतिरिक्त किसी अन्य संस्थान में नहीं पढ़ेंगे।

1 answer asked in political-science by anonymous
Made with in India
...